अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में घूमने की जानकारी – Tourist Places in Andaman and Nicobar Island in Hindi

Tourist Places in Andaman and Nicobar Island in Hindi: भारत का केंद्र शासित प्रदेश अंडमान ओर निकोबार द्विप एक ऐतिहासक और प्राचीन द्वीप हैं जो छुट्टियों में समय बिताने  के लिए एकदम सही जगह है। अंडमान निकोबार 572 छोटे ओर बड़े द्वीपों से मिलाकर एक द्विप समूह है ओर इसका राजधानी पोर्ट ब्लेयर है। इस राज्य की जनसंख्या लगभग 4,00,581 है। बंगाल की खाड़ी की दक्षिण में और हिंद महासागर में अंडमान ओर निकोबार द्विप स्थित है।

यह केंद्र शासित प्रदेश भारत के पड़ोसी देश बर्मा ,थाईलैंड ,बंगलादेश की करीब है। यहाँ आप को जगह जगह पे बिभिन्न प्रकार जीव जंतु, पक्षी ओर जंगलों देखने को मिलती है। अंडमान निकोबार द्वीप को लोग गार्डन ऑफ ईडन  नाम में भी जाने जाते है ओर बोहत कम ही लोग यह नाम से जानते हैं। 17 वीं शताब्दी में मराठों ने इस द्वीप पर राज किया था, फिर अंग्रेजों ने यहाँ पर अपना अधिकार जमा लिया। यहाँ पर पर्यटक कभी भी बोर नहीं होते हैं क्यों कि यह स्थान सभी प्रकार के पर्यटकों के लिए एक आदर्श जगह है। अंडमान में लगभग 570 उष्णकटिबंधीय द्विप है। मैं आपको यह बता देती हूं कि अंडमान जाने के लिए ट्रैन या रेल की कोई भी सुविधा नहीं है सिर्फ आप फ्लाइट या जहाज की सुविधा ले सकते हैं।

सभी को मेरा नमस्कार है , में आशा  करती हूँ आप सभी स्वस्थ होंगे और अच्छे होंगे। अंडमान निकोबार एक ऐसा द्विप है जो प्राकृतिक सुंदरता से भर पुर है। साथ ही हनीमून के लिए यह स्थान काफी मशहूर है। यह एक ऐसी जगह है जहाँ पर्यटकों को  कभी न भूले वाले अनुभव का प्राप्ति होती है। यहाँ कदम कदम पर आश्चर्यचकित करदेने वला आकर्षण शामिल है जिनमें निल द्विप ,राधानगर बीच ,रास द्विप ,हाथी समद्र तट ओर कई जगाह शामिल है। यह द्विप अपने शांत वातावरण, सफेद रेतीले समुद्र तटों के लिए प्रसिद्ध है। अंडमान और निकोबार के बारे में ओर डिटेल्स लेना हो तो हमरे इस आर्टिकल को सुरु से अंत तक पढ़े।

Table Contents

अंडमान और निकोबार का इतिहास – History about Andaman and Nicobar Island in Hindi

  • अंडमान के द्वीप समूहों का आधुनिक इतिहास 1789 में ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा बस्तियों की स्थापना के बाद शुरू हुआ।
  • प्रथम भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के बाद 1885 में ब्रिटिश सरकार ने कालापानी कहकर अजीबन कारावास की सजा भुगतने वालों के लिए इस जगह का इस्तेमाल किया।
  • 1947 तक ब्रिटिश सरकार ने भारत के स्वतंत्र होने तक इस द्वीपों का प्रशासन चलाया।

अंडमान और निकोबार द्वीप के पर्यटन स्थल पोर्ट ब्लेयर – Andaman Tourism in Hindi Port Blair 

पोर्ट ब्लेयर अंडमान और निकोबार द्वीप समूह की राजधानी है जो अपनी अद्भुत प्राकृतिक खूबसूरती और सफ़ेद रेतीले समुद्री तटों के लिए पुरे दुनिया में जाना जाता है। अंडमान निकोबार भारत से 1200 समुद्री मील की दुरी होने के कारण भी पर्यटकों को अकसर आकर्षित करता है।  मुख्य रूप से यह शहर कुख्यात सेलुलर जेल के लिए लोकप्रिय है। यह 556 छोटे बड़े द्वीपों का समूह है, जहाँ पर्यटकों का आना जाना लगा रहता है।

अंडमान और निकोबार द्वीप में घूमने की जगह राधानगर बीच – Andaman or Nicobar Dwip me Ghumne ki Jagha Radhanagar Beach

अंडमान के हैवलॉक द्विप में पश्चिम तट पर राधानगर बीच स्थित है जिसे भारत सबसे खूबसूरत बीच में से एक माना जाता है। यह बीच हैवलॉक से लगभग 12 किलोमीटर की  दूरी पर स्थित है। पर्यटकों के लिए सबसे अधिक लोकप्रिय बीच होने के अलावा यह 2004 मैं एशिया में सर्वश्रेष्ठ समुद्र तट के रूप में माना जाता था। इस बीच को एक बेहतरीन हनीमून डेस्टिनेशन भी माना जाता है। राधानगर बीच हरे भरे ताड़ के पेड़ों से घेरा हुआ है ओर इसके साथ साथ आपको इस बीच पर बड़ी मछलियों ओर डॉलफिन दिखने को मिलेगा। यहाँ आप फोटोग्राफी से लेकर सूर्यास्त के नज़रों के आंनद भी ले सकते हैं। उच्च ज्वार के कारण साम 5 बजे के बाद पानी में तैरने की अनुमति नहीं है। सुबह 10 बजे से साम 4 बजे तक पर्यटकों को राधानगर बीच घुमने की अनुमति है।

अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के दर्शनीय स्थल हैवलॉक द्विप – Tourist Places in Andaman and Nicobar Island in Hindi Havelock Island

अंडमान ओर निकोबार की राजधानी पोर्टब्लेयर से सिर्फ 12 किलोमीटर की दूरी पर हैवलॉक द्विप  स्थित है जो अपनी सफेद रेत ओर जंगलों के कारण  पर्यटकों के लिए एक प्रमुख आकर्षण है। हेवलॉक द्विप पर राधानगर बीच ,एलिफेंट बीच ,काला पत्थर बीच ओर बिजयनगर बीच फेमस है। पिकनिक के लिए यह स्था सबसे बेहतरीन स्थान है। घने जंगलों में घेरा हुआ सड़कों के बीच चलना ओर उसके साथ अचानक पानी में कूदना बोहत आनंद देता है।

माउंट हैरियट नेशनल पार्क – Mount Harriet National Park

अंडमान निकोबार से 21 किलोमीटर ओर पोर्ट ब्लेयर से लगभग 45 किलोमीटर दूरी पर माउंट हैरियट नेशनल पार्क स्थित हैं ।दक्षिण अंडमान के द्विप समुह मैं मुख्य आकर्षण ओर सबसे ऊंची चोटी माना जाता हैं ।पोर्ट ब्लेयर को  माउंट की चोटी के ऊपर से देखा जा सकता हैं ।ब्रिटिश सैनिक रॉबर्ट क्रिस्टोफर टाइटलर की पत्नी हैरियट के नाम पर यह नेशनल पार्क का नाम माउंट हैरियट नेशनल पार्क रखा गया था ।माउंट हैरियट  जंगलों में आप हाथी सफारी का मजा ले सकते हैं ।इसका प्रवेश शुल्क 12 बर्ष तक बच्चों के लिए 10 रुपये ओर 12 बर्ष  के बाद लोगों के लिए 25 रुपए है।सोमवार से रविवार तक सुबह 7 बजे से साम 5 बजे तक खुला रहता हैं ।

अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में ऐतिहासिक स्थान सैल्यूलर जेल – Tourist Places in Andaman and Nicobar Island in Hindi Cellular Jail

अंडमान निकोबार का राजधानी पोर्ट ब्लेयर से सैल्यूलर जेल लगभग 8 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। समुद्र तट के समीप बानी यह जेल आज एक  राष्ट्रीय स्मारक है। इस जेल में स्वतंत्रता सेनानियों ओर वीर बहादुरों को सजा दी गई थी। जेल का निर्माण 1897 में अंग्रेज द्वारा किया गया था जिसमे 694 कोठरियां है। आज भी जेल की दीवारों पर वीर बहादुरों के नाम लिखा है। चरों और समुद्र होने की वजह से यहाँ से क्रांतिकारियों का बहार निकलना लगभग असंभव था, इसीलिए इसे काला पानी कहा जाता था। द्वितीय विश्व के समय जापानियों ने सैल्यूलर जेल के कई हिस्सों को नष्ट कर दिया था। आज यह स्थान भारत का एक प्रमुख ऐतिहासिक स्थान है और सभी पर्यटकों का ध्यान अपनी और खींचता है। यह जेल पर्यटकों के लिए सुबह 9 से साम 5 बजे तक खुला रेहता है और  सोमवार को जेल बंद रहती है।

राजीव गांधी वाटर स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स – Rajiv Gandhi Water Sports Complex

अंडमान निकोबार से लगभग 35 किलोमीटर ओर  पोर्ट ब्लेयर से लगभग 8 किलोमीटर की दूरी पर राजीव गांधी वाटर स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स स्थित है। यह अंडमान निकोबार मैं पोर्ट ब्लेयर के उत्तर -पश्चिम भाग में सैल्यूलर जेल के पास स्थित हैं। राजीव गांधी वाटर स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स को अंडमान वाटर स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स भी काहा जाता है। यह वाटर स्पोर्ट्स में  बोट ,रोबोट ,वाटर साइकिल ,बम्पर बोट आदि शामिल है। यहाँ का हर वाटर स्पोर्ट्स एक्टिविटी की फीस 300 रुपये से शुरु होकर 5000 तक होती है ओर यहाँ की हर एक्टिविटी का आनंद उठा कर पर्यटक अपनी यात्रा को यादगार बना सकते है।

डिगलीपुर – Diglipur

अंडमान के राजधानी पोर्ट ब्लेयर से डिगलीपुर लागभग 298 किलोमीटर दूरी पर स्थित है। डिगलीपुर अपने सबसे बड़ी चोटियों के लिए माना जाता है जहाँ आपको मगरमच्छ अभ्यारण ओर गुफाएं देखने को मिलेंगे। आप इस चोटी की ऊपर ट्रैकिंग करने समय विदेशी वनयजीवों को देख सकते हैं। मई ओर अक्टूबर के बीच डिगलीपुर घुमने का सबसे अच्छा समय है। डिगलीपुर पहुँचने के लिए आप पोर्ट ब्लेयर से नाव ओर कार का सहायता ले सकते हैं।

चिड़िया टापू – Chidiya Tapu

अंडमान निकोबार से लागभग 41 किलोमीटर ओर पोर्ट ब्लेयर से लागभग 17 किलोमीटर की दुरी पर चिड़िया टापू स्थित है। चिड़िया टापू का मुख्य यह जगह पक्षियों के लिए एक शांत जगह हैं जो आप देशी पक्षियों को यहां के आसमान को रंग बिरंग करते हुए देख सकते हैं। अगर आप पक्षी प्रेमी है तो आप  चिड़िया टापू जरुर घुमने जाए और आनंद ले। यहां का सूर्यास्त आपको मंत्रमुग्ध कर देने वाला है। मंगलवार से रविवार सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक चिड़िया टापू घुमने जा सकते है। सोमवार को बंद रहता हैं। भारतीयों के लिए INR 20 ओर विदेशीयो के लिए INR 50 प्रवेश शुल्क है।

महात्मा गांधी मैरिन नेशनल पार्क – Mahatma Gandhi Marine National Park

अंडमान निकोबार से लागभग 28 किलोमीटर ओर पोर्ट ब्लेयर से लगभग 18 किलोमीटर दूरी पर महात्मा गांधी मैरिन नेशनल पार्क स्थित है। इस नेशनल पार्क की  स्थापना साल 1983 किया गया था। यह नेशनल पार्क में 2 प्रमुख द्विप है जिसे भूलभुलैया द्विप ओर ट्विन द्विप के नाम से भी जाना जाता है। यह नेशनल पार्क 17 द्वीपों से बना है जो 281.5 वर्ग किलोमीटर  की क्षेत्र फल में फैला हुआ है जिसमें प्रवाल भीतियाँँ, मैंग्रोव क्रिक ,वर्षावन ओर लैगून शामिल हैं। साथ ही यह द्विप कछुओंं के लिए एक महत्वपूर्ण प्रजनन स्थल है।

रॉस द्वीप – Ross Island 

अंडमान निकोबार से  लागभग 37 किलोमीटर ओर  पोर्ट ब्लेयर से लागभग 9 किलोमीटर दूरी पर रॉस द्वीप  स्थित हैं ।रॉस द्विप को अब नेताजी सुभाष चंद्र बोस आइलैंड के नाम से जाना जाता हैं ।पहले के समय यह स्थान राज्य में ब्रिटिश कॉलोनी के मुख्यालय के रूप में प्रशिद्ध था ।आज भी यह द्वीप भारतीय नौसेना के नियंत्रण में है  ओर यहां एक छोटा संग्रहालय, चर्च, समृर्तिका है जो ब्रिटिश जीवन की तरीका की याद दिलाती हैं। इस द्वीप को  देखने के लिए हर साल हजारों के तादाद में पर्यटक आते हैं।रॉस द्वीप में हर व्यक्ति के लिए 300 रुपए प्रवेश शुल्क है।

अंडमान ओर निकोबार द्विप का स्थानीय भोजन – Local Food In Andaman And Nicobar Island In Hindi

अंडमान में आपको विभिन्न राज्यों के भोजन का मिश्रण मिलेगा ।द्विप समूह होने के कारण यहाँ की भोजन काफी प्रचलित हैं ओर यहां पर समुद्री भोजन ज़्यादा मिलता है ।यहां का फल अधिक लोकप्रिय ओर ताजा हैंं ।स्थानीय भोजन में जैसे कि फिश करी , कुल्छे, चिकन टिक्का मसाला आदि ओर समुद्री भोजन में मछली , केकड़ा , झींगा आदि लोकोप्रिय हैं।

अंडमान और निकोबार द्वीप समूह की मौसम – Andaman or Nicobar Island Weather in Hindi 

In Summer : जुलाई में अधिकतम तापमान 29 डिग्री सेल्सियस ओर सबसे कम तापमान 24 डिग्री सेल्सियस होता है ओर अगस्त में अधिकतम 29 डिग्री सेल्सियस ओर सबसे कम 24 डिग्री सेल्सियस अनुभव करता है।

In Winter : अंडमान मैं ठंडा दिसंबर से शरु होती है और फरवरी मैं खत्म होती है। बीच बीच का तापमान 17 डिग्री सेल्सियस से 20 डिग्री सेल्सियस के बीच रहेगा। आप दिन ओर रात के ठंडी हवा का आंनद ले सकते है।

In Monsoon : अंडमान मैं  ग्रीष्म ओर मानसून  ऋतुओं को दो भागों में विभाजित कर सकते हैं। ऊष्णकटिबंधीय द्विप होने के कारण अंडमान में ठंड का मौसम नहीं होता है।

अंडमान ओर निकोबार द्वीप घुमने का सबसे अच्छा समय – Beat Time To Visit Andaman And Nicobar Island In Hindi 

हालाँकि अंडमान और निकोबार साल में कभी भी दौरा किया जा सकता है लेकिन अंडमान ओर निकोबार द्वीप जाने का सबसे अच्छा समय अक्टूबर से मई तक है। गर्मियों के मौसम में अंडमान निकोबार जाने का सबसे बेहतरीन समय हैं क्योंकि इस सीजन में बारिश नहीं होती है और आप को दर्शनीय स्थलों की यात्रा , पानी के खेल ओर समुद्र तट घुमने के लिए तकलिब भी ना होगी। आप अंडमान मैं हर स्थान अच्छे से घूम सके ओर क्रूज राइड का भी आनंद ले सके तो हम आपको बता दे कि गर्मी के मौसम आपके लिए अच्छा है।

अंडमान ओर निकोबार द्विप कैसे पुहंचे – How To Reach Andaman And Nicobar Island In Hindi 

वायु मार्ग – By Air : अंडमान निकोबार पहुंचने के लिए सबसे बेहतरीन तरीका हवाई यात्रा है। अंडमान की राजधानी पोर्ट ब्लेयर के वीर सावरकर उंतरराष्ट्रीय पहुंचने  के लिए दिल्ली, बंगलोर, कोलकाता, मुंबई, चेन्नई, अहमदाबाद हवाई अड्डा से हर दिन उड़ान उपलब्ध हैं। चेन्नई ओर कोलकाता से हवाई जहाज से जाएंगे तो आपको पोर्ट ब्लेयर पोहंचने के लिए 2 घंटे लगेगा ओर दिल्ली और मुंबई से करीब 5 घंटे लगेगा।

जल मार्ग – By Ship :  समुद्र मार्ग से भी आप अंडमान पोहंच  सकते हैं लेकिन जहाज में अधिक समय यात्रा करना पड़ता है। यदि आपके पास समय है ओर आप शानदार यात्रा करना चाहते हैं तो आप जहाज से अंडमान जरूर यात्रा कर सकते हैं। चेन्नई , कोलकाता ओर विजाग से हर महीने लागभग चार से पांच जहाज चलते है ओर यह यात्रा 50 से 60 घंटे लंबी है।

रेल मार्ग – By Train : अंडमान मैं रेल मार्ग मैं जाने के लिए कोई भी सुबिधा नहीं हैं।

Frequently Asked Questions About Andaman and Nicobar Island in Hindi 

Q:1. अंडमान का राजधानी क्या है ?

A: अंडमान का राजधानी पोर्ट ब्लेयर है ओर उत्तर मैं अंडमान द्विप ओर दक्षिण में निकोबार द्विप स्थित हैं ।

Q:2. अंडमान मैं किस मुद्रा का उपयोग किया जाते हैं?

A: अंडमान मैं भारतीय रुपया का उपयोग किया जाता हैं। हवाई अड्डा पर आप बैकों ओर मुद्रा डीलरों से मुद्रा लेन देन कर सकते हैं। आप एटीएम से भी भारतीय रुपया निकाल सकते है।

Q:3. क्या अंडमान में पासपोर्ट का जरूरत है ?

A:अंडमान द्विप समूह भारत का हिस्सा है इसलिए भारतीयों के लिए पासपोर्ट का कोई जरूरत नहीं हैं। अंडमान द्विप पर जाने वाले बेदेशी पर्यटकों के पास वैध वीजा होना चाहिए ओर पासपोर्ट भी होना चाहिए।

Q:4. अंडमान जाने में कितना खर्च होता है ?

A:अगर आप अंडमान यात्रा करने जा रहे है तो तकरीवन 4 रातो ओर उससे अधिक पैकेज प्रति व्यक्ति के लिए 9000 से 50,000 तक खर्च करना पड़ सकता है।

Q:5. अंडमान मैं कोन सी सिम का नेटवर्क उपलब्ध है?

A:अंडमान मैं तीन सिम का नेटवर्क उपलब्ध हैं। एयरटेल,बीएसएनएल ओर वोडाफोन सिम का नेटवर्क काम करता है ।

Q:6. अंडमान मैं कोन कोन सा जगह घूमना आप के लिए महत्वपूर्ण है ?

A:अंडमान मैं सेलुलर जेल ,चिड़िया टापू , हैवलॉक, राधानगर बीच, निल द्वि , डिगलीपुर, माउंट हेरिएट यह सभी घूमना आप के लिए महत्वपूर्ण है।

Q:7. अंडमान मैं कौन सी भाषा का प्रचलीत हैं ?

A: अंडमान मैं हिंदी, तमिल ,तेलुगु ओर मलयालम भाषा का प्रयोग की जाती है।

Q:8. अंडमान घुमने के लिए पूरे कितने दिन लगते है ?

A: आप अंडमान पूरे अच्छे से घूमना चाहते हो तो 10 दिनों के लिए पूरे छुट्टी ले के जा सकते हैं ।

Q:9. अंडमान में कितने द्विप हैं ?

A.अंडमान मैं छोटे और बड़े मिलके 572 द्विप हैं। इनमेंं से 38 पर जनसंख्या है, बाकी द्विप जंगलों से घेरा हुआ है।

और पढ़े :

1 thought on “अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में घूमने की जानकारी – Tourist Places in Andaman and Nicobar Island in Hindi”

Leave a Comment