मध्य प्रदेश के प्रमुख दर्शनीय स्थल और घूमने की जानकारी – Madhya Pradesh Tourist Places in Hindi

MP me Ghumne ki Jagah/Mp Tourist Places in Hindi : मध्य प्रदेश भारत का सबसे प्रमुख और खूबसूरत राज्य में से एक है। यह राज्य भारत का दूसरा सबसे बड़ा राज्य है और देश के केंद्र में स्तिथ होने के कारण इसे भारत देश के दिल भी कहा जाता है। मध्य प्रदेश राजस्थान, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र और गुजरात अदि राज्य से घिरा हुआ है। इस राज्य का कोई अंतरराष्ट्रीय सिमा नहीं है।

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल है जिसे भारत के सबसे उन्नत और स्वच्छ शहरों में से एक माना जाता है। धार्मिक और आधात्मिक दृष्टि कोण से इस राज्य का काफी महत्व रहा है। हर बारह साल में यहाँ कुम्भ मेला का भव्य मेला लगता है जो देश और दुनिया में काफी प्रसिद्ध है। अपनी प्राकृतिक सुंदरता, समृद्ध संस्कृति, प्राचीन विरासत और कई ऐतिहासिक स्मारकों के साथ मध्य प्रदेश न केवल देश के प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों में शामिल है वल्कि पुरे दुनिया में काफी लोकप्रिय रहा है।

सभी को मेरा नमस्कार है, मुझे यकीन है आप सभी बिलकुल अच्छे होंगे। देश के केंद्र में स्तिथ मध्य प्रदेश भारत का एक अनोखा राज्य है। यह जीवंत राज्य अपनी विविध जातीयता, ऐतिहासिक स्मारकों, राष्ट्रीय उद्यानों, कला, संस्कृति, परंपरा, त्योहारों, मंदिरों, महलों, वन्य जीवन और स्वादिष्ट भोजन के लिए जाना जाता है। यह भारत के उन राज्य में से  एक है जहाँ साल भर पर्यटकों का आना जाना लगा रहता है जिनमें अंतरराष्ट्रीय पर्यटक भी शामिल है।

इस राज्य में कई प्रमुख स्थान है जिसे सभी पर्यटकों के द्वारा बहुत ही पसंद किया जाता है। इसलिए मध्य प्रदेश भारत का सबसे प्रमुख पर्यटन स्थलों में से एक माना जाता है। अगर आप भी मध्य प्रदेश के यात्रा के लिए योजना बना रहे हैं या यात्रा पर हैं तो निश्चित रूपसे यह यात्रा आपके लिए एक यादगार होने वाला है क्यों कि यात्रा के दौरान आप को इस अद्भुत राज्य में ढेरों ऐसे अनुभव से रूबरू होंगे जिसको भूलपाना लगभग सभी के लिए असंभव है।

मध्य प्रदेश की राजधानी : भोपाल

मध्य प्रदेश की जनसँख्या: (8.68 Crores)

मध्य प्रदेश की भाषाएँ: हिंदी

जलवायु: भोपाल ग्रीष्मकालीन 48 डिग्री से 22 डिग्री शीतकाल 23 डिग्री से 4 डिग्री

मानसून: जून से सितंबर

हवाई अड्डे: भोपाल, ग्वालियर, इंदौर, जबलपुर, खुजराहो

Table Contents

मध्य प्रदेश का इतिहास – History about Madhya Pradesh in Hindi 

  • यमुना से गोदावरी तक का यह विस्तृत भू भाग कभी अयोध्या के अधीन था।
  • इसका एक विशाल भाग गुप्त साम्राज्य (320 – 550 ई. ) का हिस्सा था
  • गुप्त साम्राज्य के विघटन के बाद तोरमाण के नेतृत्वा में श्वेत हूणों ने इस क्षेत्र पर 500 ई. में अपना अधिकार जमा लिया।
  • 11 वीं शताब्दी में मुस्लिम आक्रमणकारी मध्य भारत में आए जिन्होंने इसका कुछ हिस्सा दिल्ली सल्तनत में मिला लिया। बाद में यह मुगल साम्राज्य का हिस्सा बना
  • मराठों के उत्थान के बाद यहाँ के बड़े क्षेत्र पर मराठों का अधीन आ गया और इसी तरह यह प्रदेश छोटी छोटी रियासतों में बँट गया।
  • मध्यकालीन इतिहास में मध्य प्रदेश की अनेक नारी शासकों ने यश प्राप्त किया। इनमें रानी अहल्याबाई, रानी लक्ष्मीबाई, महारानी कमला देवी और रानी दुर्गावती के नाम उल्लेखनीय है।
  • कालांतर में जब देश स्वतंत्र हुआ तो मध्य भारत के कुछ क्षेत्रों को लेकर 31 अक्टूबर, 1956 को इसका निर्माण हुआ।
  • 1 नवंबर, 2000 को मध्य प्रदेश के 1,46361 वर्ग किलोमीटर क्षेत्रफल वाले भू भाग को अलग करके छत्तीसगढ़ नामका नया राज्य दिया गया।

MP me Ghumne ki Jagah/Mp Tourist Places in Hindi

और पढ़े : देहरादून के 10 सबसे प्रमुख दर्शनीय स्थल 

MP में घूमने की जगह भोपाल – Mp me Ghumne ki Jagah Bhopal

अपनी समृद्ध इतिहास और एक दिलचस्प अतीत में डूबा हुआ भोपाल मध्य प्रदेश का एक खूबसूरत राजधानी शहर है। यह शहर हरी भरी पहाड़ियों और खूबसूरत झीलों के बिच बसा हुआ है जो इसकी खूबसूरती में और भी चार चाँद लगता हैं। ऐसा माना जाता है कि इस शहर का निर्माण 11वीं शताब्दी में हुआ था जिसकी स्थापना परमार वंश के राजा भोज ने की थी।

लकिन आज यह शहर प्राचीन स्मारकों, ऐतिहासिक महलों, धार्मिक मंदिरों और कई संग्रहालयों से युक्त है और पर्यटकों के लिए एक प्रमुख आकर्षणों का केंद्र भी है। भोपाल शहर को अक्सर भारत के सबसे हरे भरे शहरों में से एक के रूप में जाना जाता है साथ ही साथ यह शहर अपनी पुरानी और आधुनिक वास्तुकला के साथ एक अनूठा मिश्रण को भी दर्शता है और मध्य प्रदेश में देखने और घूमने के लिए इसे अच्छा जगह कोई भी नहीं है।

और पढ़े : भोपाल में घूमने के लिए प्रमुख दर्शनीय जगह

Mp में घूमने की जगह मोती मस्जिद – Mp me Ghumne ki Jagah Moti Masjid

देश के सबसे शानदार और दिलचस्प मस्जिदों में से एक है मोती मस्जिद। यह  मध्य प्रदेश में घूमने के लिए एक आकर्षक जगह है जो हर साल हजारों पर्यटकों को अपनी तरफ अकसर आकर्षित करता है। 1860 निर्मित यह मस्जिद सिकंदर जहान बेगम के शासन काल के दौरान बनाया गया था। यह मस्जिद अपनी चमकदार सफेद संगमरमर वाली मंजिल के कारण इसे पर्ल मस्जिद के नाम से भी जाना जाता है। दिल्ली की जमा मस्जिद की तरह बनी मोती मस्जिद भी मुगल काल की एक भव्य ईमारत है। इतिहास प्रेमियों के लिए यह एक आदर्श जगह है और मध्य प्रदेश में घूमने के लिए सबसे बहेतरीन आकर्षणों में से एक है।

मध्य प्रदेश टूरिस्ट प्लेसेस ग्वालियर – Mp Tourist Places in Hindi Gwalior

ग्वालियर मध्य प्रदेश का एक प्रसिद्ध ऐतिहासिक शहर के रूप में जाना जाता है। ग्वालियर का महत्व केवल इसलिए नहीं है की यह अति प्राचीन शहर है, वल्कि इसका महत्व इसलिए भी है क्योंकि भारतीय इसिहास में यह एक प्रमुख सांस्कृतिक केंद्र के रूप में जगमगाता रहा है। यह शहर कई प्राचीन मंदिरों, ऐतिहासिक किलों और कई अन्य आकर्षणों का घर है जिनमें सबसे अधिक देखे जाने वाला ग्वालियर किला है जो पहाड़ की छोटी पर स्तिथ है और देश के लगभग सभी लोगों को अपनी तरफ आकर्षित किया है। साथ ही इस शहर की आकर्षणों में सास बहु का मंदिर, तानसेन का मकबरा और राज्य पुरातत्व संग्रहालय शामिल है। मध्य प्रदेश का यह ऐतिहासिक शहर भोपाल में घूमने लिए सबसे बेहतरीन जगहों में से एक है।

मध्य प्रदेश के दर्शनीय स्थल खजुराहो – Madhya Pradesh ke Darshaniya Stahl Khajuraho

मध्य प्रदेश के सबसे प्राचीन ऐतिहासिक जगहों में से एक खजुराहो अपनी आश्चर्यजनक मंदिरों के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध है। यह शहर खूबसूरत प्राचीन हिन्दू मंदिरों और जैन मंदिरों का घर है जहाँ आध्यात्मिक शिक्षाओं, नृत्य, ध्यान और कामुक कला को दर्शाती अद्भुत मूर्तियां हैं। इन मंदिरों का निर्माण चंदेला राजपूत राजवंश के द्वारा किया गया था। अपनी असाधारण वास्तुकला के कारण खजुराहो के मंदिरों को भारत में एक उल्लेखनीय यूनेस्को विश्व धरोहर स्थलों के रूप में नामित किया है। यदि आप मध्य प्रदेश की यात्रा कर रहे हैं तो खजुराहो जरूर जाना चाहिए क्योंकि आप मंदिरों के अद्भुत विवरण और उत्कृष्ट वास्तुकला से मंत्रमुग्ध होंगे। 

मध्य प्रदेश पर्यटन स्थल जबलपुर – Madhya Pradesh Tourism in Hindi Jabalpur

अपनी अद्भुत प्राकृतिक सुंदरता और कई पर्यटक आकर्षणों के लिए जाना जाने वाला जबलपुर मध्य प्रदेश में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगह में से एक है। मध्य प्रदेश का यह प्रमुख शहर अपनी सांस्कृतिक गतिविधियों और संगमरमरी चट्टानों के लिए विश्व में प्रसिद्ध है। नर्मदा नदी के तट पर बसा यह शहर अद्भुत प्राकृतिक सुंदरता और बलुआ पत्थर की पहाड़ियों से घिरा हुआ है। इस शहर की प्रमुख आकर्षणों में रानी दुर्गावती, दुधार जल प्रपात, मदन महन किला, भेड़घाट, बरगी बांध और बजनामठ अदि कई लोकप्रिय पर्यटक आकर्षण है जो मध्य प्रदेश में घूमने के पर्याप्त है।     

मध्य प्रदेश में घूमने की जगह साँची – Mp me Ghumne ki Jagah Sanchi

साँची मध्य प्रदेश के एक महत्वपूर्ण ऐतिहासिक और आध्यात्मिक स्थानों में से एक है जो मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से लगभग 45 किलोमीटर की दूरी पर स्तिथ है और अपनी प्राचीन स्तूपों, मठों और अशोक स्तभों के लिए प्रसिद्ध है। रायसेन जिले में स्तिथ यह मध्य प्रदेश में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहों में से एक है। साँची दुनिया के सबसे प्रमुख बौद्ध तीर्थस्थलों में से एक है जो बड़ी संख्या में तीर्थयात्रियों को आकर्षित करता है। हालाँकि साँची का प्रसिद्ध पर्यटन स्थल महान स्तूप है जो यूनेस्को के विश्व धरोहर स्थल है। इस स्तूप का निर्माण मौर्य वंश के महान सम्राट अशोक ने तीसरी शताब्दी इसा पूर्व के दौरान किया था। आज यह मध्य प्रदेश के बौद्ध कला और वास्तुकला का एक बेजोड़ नमूना है। 

मध्य प्रदेश के प्रमुख पर्यटन स्थल इंदौर – Mp Tourist Places in Hindi Indore

इंदौर मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा और सबसे अधिक आबादी वाला शहर है जो पूरी तरह से समृद्ध और परंपरा से भरा हुआ है। यह शहर अपनी प्राकृतिक सुंदरता, ऐतिहासिक स्मारकों, शानदार महलों, प्राचीन मंदिरों और विशाल किलों के लिए भारत के सबसे पसंदीदा पर्यटन स्थलों के रूप में जाना जाता है। यह खान और स्वरसति नदी के तट पर स्तिथ है और भारत का सबसे स्वच्छ शहर भी है। इंदौर शहर का नाम इंद्रेश्वर महादेव के मंदिर के नाम पर रखा गया है। इस शहर की प्रमुख आकर्षणों में लाल बाग पैलेस, कांच मंदिर, राजवाड़ा, बड़ा गणपति और बहुत कुछ है। इसलिए यह  इंदौर मध्य प्रदेश में अपनी परिवार और दस्तों के साथ घूमने के लिए एक बेहतरीन जगहों में से एक है।

मध्य प्रदेश में घूमने की जगह उज्जैन – Mp me Ghumne ki Jagah Ujjain

शिप्रा नदी के तट पर स्तिथ उज्जैन मध्य प्रदेश के एक प्राचीन और धार्मिक शहर है जो विभिन्न मंदिरों और कई धार्मिक स्थलों का घर है। यह हिन्दुओं के सात पवित्र शहरों में से एक है जो सभी हिस्सों से बड़ी पैमाने पर तीर्थयात्रियों को आकर्षित करता है। साथ ही ऐतिहासिक दृष्टि से भी इस शहर का काफी महत्व रहा है। भगवान शिव के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग यहाँ इसी पवित्र शहर में स्तिथ है। उज्जैन में अन्य लोकप्रिय पर्यटन स्थान में महाकालेश्वर मंदिर, गोपाल मंदिर, गोमती कुंड और कई प्रमुख दर्शनीय स्थल है जो मध्य प्रदेश में घूमने के लिए एक आदर्श जगह है।

मध्य प्रदेश में घूमने लायक जगह ओंकारेश्वर – Tourist Places in Madhya Pradesh in Hindi Omkareshwar

ओंकारेश्वर मध्य प्रदेश का एक धार्मिक तीर्थ स्थल है जो कावेरी और नर्मदा नदी के संगम पर स्तिथ है। इसका नाम ओंकार से लिया गया है जो भगवान शिव का ही एक नाम है। इसे भारत के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक माना जाता है, इसलिए कोई भी इस पवित्र शहर के महत्व अनुमान लगा सकता है। इस शहर में दो प्राचीन मंदिर हैं जिन्हें ओंकारेश्वर और अमरकेश्वर के रूप में जाना जाता है। पवित्र स्थलों के अलावा शहर प्राकृतिक सुंदरता से भरपूर है और पहाड़ों से घिरा हुआ है जो एक मनमोहक दृश्य प्रस्तुत करता है।

मध्य प्रदेश के दर्शनीय स्थल पचमढ़ी – Mp ke Darshaniya Sthal Pachmarhi

पचमढ़ी मध्य प्रदेश का एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है जिसे सतपुरा के रानी के नाम से भी जाना जाता है। यह सुंदर हिल स्टेशन समुद्र तल से लगभग 1100 मीटर की ऊंचाई पर स्तिथ है और अपनी प्राकृतिक वातावरण, शानदार गुफाओं, प्राचीन मंदिरों और मनमोहक दृश्य के लिए प्रसिद्ध है। पौराणिक कथाओं के अनुसार पांच पांडवों भाइयों ने अपने तेरह बर्ष के वनवास के दौरान इसी स्थान का दौरा किया था जिसका प्रमाण आज भी पड़ावों के गुफाओं में देखा जा सकता है। पचमढ़ी की पर्यटन स्थलों में महादेव गुफाएं, जटाशंकर, सिल्वर जलप्रपात, धूपगढ़ और अप्सरा विहार अदि कई प्रमुख आकर्षण है जो मध्य प्रदेश में घूमने के लिए एक आदर्श स्थान के रूप में माना जाता है।

और पढ़े : मध्य प्रदेश का सबसे खूबसूरत हिल स्टेशन पचमढ़ी

मध्य प्रदेश के लोकप्रिय जगह ओरछा – Madhya Pradesh ke Lokopriyo Jagah Orchha

मध्य प्रदेश के बेतवा नदी के तट पर स्तिथ ओरछा एक ऐतिहासिक शहर है जो अपने भव्य महलों और नक्काशीदार मंदिरों के काफी मशहूर है। यह शहर इतिहास के शौकीनों, प्रकृति प्रेमियों और एडवेंचर लवर्स के लिए एक आदर्श जगह है। ऐतिहासिक स्थलों और कई आकर्षणों से परिपूर्ण इस जगह की यात्रा करना अपने आप में ही एक समृद्ध अनुभव है। इस शहर की प्रमुख आकर्षणों में जहांगीर महल, ओरछा किला, राजा राम मंदिर, फूल बाग और लक्ष्मी मंदिर शामिल है जो निश्चित रूप से मध्य प्रदेश के यात्रा में अपना प्रमुख भूमिका निभाते हैं।

मध्य प्रदेश में घूमने की जगह मांडू – Mp me Ghumne ki Jagah Mandu

मध्य प्रदेश के मालवा क्षेत्र में स्तिथ मांडू एक अद्भुत शहर है जिसे मांडवगढ़ के नाम से भी जाना जाता है। यह खूबसूरत शहर मध्य प्रदेश के मालवा क्षेत्र में स्तिथ है और अपनी समृद्ध इतिहास और प्राचीन वास्तुकला के लिए प्रसिद्ध है। यह स्थान अपनी भव्य महलों, शांत झीलों, खूबसूरत झरनों और अविश्वसनीय स्मारकों के लुभावना दृश्य के साथ अकसर पर्यटकों को आकर्षित करता है। साथ ही इतिहास प्रेमियों के लिए यह एक आदर्श जगह है। शहर में देखने लायक कई खूबसूरत दर्शनीय स्थल मजूद है जिनमें रूपमती का मंडप, निल कंठ पैलेस, रॉयल एन्क्लेव और अशरफी महल शामिल हैं।

मध्य प्रदेश का ऐतिहासिक जगह भीमबेटका – Mp ka Atihasik Jagah Bhimbetka 

भीमबेटका मध्य प्रदेश में घूमने के लिए एक दिलचस्प जगह है जो भोपाल से लगभग 45 किलोमीटर की दुरी पर स्तिथ है। यह एक प्रसिद्ध पुरातात्विक स्थल है जिसे यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल के रूप में भी जाना जाता है। यह प्रागैतिहासिक युग से रॉक शेल्टर का अद्भुत दृश्य प्रस्तुत करता है। भीमबेटका 500 से अधिक रॉक शेल्टर और 30,000 साल से अधिक पुराने कई चित्रों का घर है जो इतिहास प्रेमियों को अक्सर लुभाता है। यह मध्य प्रदेश में प्राचीन इतिहास को करीब से देखने और अनुभव करने के लिए एक बेहतरीन जगह है।

मध्य प्रदेश के पर्यटन में घूमने की जगह विदिशा – Mp Tourism me Ghumne ki Jagah Vidisha

विदिशा मध्य प्रदेश के एक छोटा खूबसूरत शहर है और अपनी समृद्ध संस्कृति विरासत और ऐतिहासिक स्मारकों के लिए मशहूर है।  बेतवा और बेस नदियों के संगम पर स्तिथ यह प्राचीन मूर्तियों और प्राचीन खंडहरों से भरा हुआ है जो इसकी गौरवशाली अतीत को आज भी दर्शाता है। विदिशा में कुछ आकर्षण है जो देखने लायक हैं और इनमें बेसनगर एक है जिनमें गुप्त राजवंश के संबंधित शिलालेखों के साथ उदयगिरि गुफाओं जैसे ऐतिहासिक अवशोष हैं। इतिहास और स्थापत्य कला में रूचि रखने वाले लोगों के लिए यह शहर किसी स्वर्ग से कम नहीं है। 

मध्य प्रदेश के प्रसिद्ध जगह कान्हा राष्ट्रीय उद्यान – Mp Tourist Places in Hindi Kanha National Park

मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा राष्ट्रीय उद्यानों में से एक कान्हा राष्ट्रीय उद्यान है जो मैकल पहाड़ियों में स्तिथ है और भारत का सबसे प्रमुख और बड़े राष्ट्रीय उद्यानों में से एक है। यह राष्ट्रीय उद्यान साल, बांस के जंगलों, झीलों, नदियों और खुले घास के मैदानों में समृद्ध है। बाघों के अलावा इस पार्क में लंगूर, सियार, जंगली सुअर, चीतल, चित्तीदार हिरण, सांभर, काला बकरा, भारतीय खरगोश, भौंकने वाले हिरण और सुस्त भालू जैसे कई जानवरों को देखा जा सकता है। यह भारत में सबसे लोकप्रिय बाघ अभ्यारण्य में से एक है जो 940 वर्ग किलोमीटर की क्षेत्र फल में फैला हुआ है और मध्य प्रदेश में प्राकृतिक सुंदरता के साथ साथ वन्यजीवों को करीब से देखने और अनुभव करने के लिए अबसर देता है।

मध्य प्रदेश के दर्शनीय स्थल पन्ना राष्ट्रीय उद्यान – Mp Tourist Places in Hindi Panna National Park

मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले में स्तिथ पन्ना राष्ट्रीय उद्यान वन्य जीवन और प्रकृति प्रेमियों के लिए एक स्वर्ग है। पन्ना राष्ट्रीय उद्यान रॉयल बंगाल बाघों के लिए सबसे महत्वपूर्ण आश्रय स्थलों में से एक है और मध्य प्रदेश में घूमने के लिए सबसे अच्छी राष्ट्रीय उद्यानों में से एक है। 542.67 वर्ग किलोमीटर की क्षेत्र फल में फैला यह राष्ट्रीय उद्यान तेंदुआ, जंगली कुत्ता, लकड़बग्घा, भालू, चीतल और भेड़िया जैसी प्रजातियों का घर है। साथ ही इस राष्ट्रीय उद्यान में 200 से अधिक प्रजातियों के पक्षी को देखा जा सकता है। प्रकृति और वन्यजीवन के बिच समय बिताने के लिए पन्ना राष्ट्रीय उद्यान मध्य प्रदेश में एक आदर्श जगह है।

मध्य प्रदेश में घूमने की जगह  महेश्वर – Mp me Ghumne ki Jagah Maheshwar

नर्मदा नदी के तट पर स्तिथ महेश्वर एक धार्मिक शहर है और यह मध्य प्रदेश के प्रमुख लोकप्रिय तीर्थ स्थलों में से एक है। यह शहर मध्य भारत के वाराणसी के रूप में जाना जाता है। वास्तव में यह पवित्र शहर कभी  हिन्दू भक्तों के लिए प्रमुख आधयात्मिक केंद्रों में से एक था। आज यह शहर आध्यात्मिक अनुभव चाहने वालों के लिए एक प्रमुख आकर्षणों का केंद्र है। साथ है यह शहर महेश्वरी साड़ियों के उत्पादन के लिए भी प्रसिद्ध है और पर्यटकों इन खूबसूरत साड़ियों की खरीदारी भी करते हैं।

मध्यप्रदेश का स्थानीय भोजन – Local Food In Madhya Pradesh in Hindi

मध्य प्रदेश के स्वादिष्ट और स्थानीय भोजन पूरे दुनिया भर में प्रसिद्ध है। मध्य प्रदेश कि सीमा विभिन्न राज्यों से लगी होने की वजह से यह अपने स्थानीय भोजन के अलावा दूसरे राज्य के भोजन से भी प्रभावित है। आपको मध्यप्रदेश के सभी तरह का भोजन मिल जाएगी। मध्यप्रदेश का प्रसिद्ध स्थानीय भोजन रोटी , मछली ,पोहा ,जलेबी , कोरमा ,कबाब , बिरयानी ,लाडो, दाल बाफला और मांस है। इसके अलावा आपको यहाँ सभी जगह में स्ट्रीट फूड भी मिल जाएगी। अगर आप भी मध्यप्रदेश की यात्रा कर रहे हैं तो इन सभी भोजन का स्वाद जरूर लें।

मध्य प्रदेश घूमने का सबसे सही समय – Best Time to Visit (MP) Madhya Pradesh in Hindi

वैसे तो मध्य प्रदेश साल में किसी भी समय यात्रा किया जा सकता है। लेकिन मध्य प्रदेश घूमने का सबसे सही समय अक्टूबर से मार्च तक का है जब तापमान अनुकूल होता है। इन महीनों के दौरान मौसम काफी सुहावना होता है और घूमने के लिए भी आदर्श माना जाता है। यानि सर्दियों के मौसम में मध्य प्रदेश घूमने का सबसे अच्छा समय है। अप्रैल से जून के महीने तक यहाँ गर्मी का मौसम रहता है जो घूमने के लिए अच्छा समय नहीं है। जुलाई से सितंबर यानि मानसून के मौसम के दौरान यहाँ बारिश होता है।

मध्य प्रदेश कैसे पहंचे –  How to Reach (MP) Madhya Pradesh  in Hindi

वायु मार्ग – By Air : मध्य प्रदेश भारत के कई प्रमुख शहरों से वायु मार्ग से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। दिल्ली, हैदराबाद, बेंगलोर, पुणे, मुंबई, अहमदाबाद और श्रीनगर अदि प्रमुख शहरों से यहाँ के लिए सीधी उड़ने उपलब्ध है। राज्य के सबसे व्यस्त और सबसे बड़े हवाई अड्डा भोपाल, जबलपुर, इंदौर और ग्वालियर में स्तिथ है।

रेल मार्ग – By Rail : मध्य प्रदेश दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और चेन्नई जैसे भारत के कई प्रमुख शहरों से रेल मार्ग से जुड़ा हुआ है। राज्य में इंदौर, भोपाल, जबलपुर, ग्वालियर और खजुराहो स्टेशनों सहित कुल 20 प्रमुख रेलवे जंक्शन हैं।

सड़क मार्ग – By Road : मध्य प्रदेश आसपास के राज्यों और शहरों से सड़क मार्ग द्वारा जुड़ा हुआ है। राष्ट्रीय और राज्य राजमार्ग मध्य प्रदेश को सभी पड़ोसी राज्य राजस्थान, गुजरात, छतीसगढ़, बिहार उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र से जुड़ा हुआ है। इस राज्य में प्रमुख बस टर्मिनल भोपाल, इंदौर, जबलपुर और ग्वालियर है।


और पढ़े :

1 thought on “मध्य प्रदेश के प्रमुख दर्शनीय स्थल और घूमने की जानकारी – Madhya Pradesh Tourist Places in Hindi”

Leave a Comment